Press Release: 31-03-2020

Kerala CM announces special action plan for Kasargod district

Thiruvananthapuram, March 31: Kerala Chief Minister, Shri Pinarayi Vijayan today announced a special action plan for Kasargod district. The northernmost district of the State has become the hotbed of coronavirus infection with the maximum number of positive cases confirmed in Kerala.

Briefing the media, the Chief Minister said, “A special action plan will be implemented in Kasargod. Currently, Kasargod district has the maximum number of positive cases and also the highest number of people under hospital observation. Data from the panchayats in the district will be used to test people with symptoms and also to identify people in contact with them. A COVID centre has started functioning at the Kasargod medical college hospital. The Central University of Kerala, situated in Kasaragod district, has got permission from ICMR to conduct testing samples. There is no shortage of masks or other protective gear in the hospitals there.”


Kerala reports 2nd Covid-19 death today; Dip in fresh Coronavirus cases, only 07

Total 215 patients under treatment

Kerala today reported its 2nd Coronavirus related death with a patient in Thiruvananthapuram district succumbing to the outbreak at the Medical College here. The victim, a 68-year old man died on Monday night. He had multiple health complications and is believed to have got the virus infection through primary contact.

On the positive side, there has been a considerable drop in the number of fresh cases reported in the State with only seven new cases confirmed on Tuesday. This takes the total number of patients under treatment to 215. Thiruvananthapuram and Kasargod districts accounted for two each case while Kollam, Thrissur and Kannur districts had one each. Six of the new cases have been contracted through local contact.
Overall, 1,63,129 people are under observation throughout the State with 1,62,471 persons at home observation and the rest 658 in hospitals. The highest number of 163 persons under hospital observation is in Kasargod district, followed by 108 in Kannur and 102 in Malappuram districts. 7,485 samples were sent for testing and 6,381 tested negative. 150 persons were admitted to the hospital today in Kerala. “We are able to send more samples for testing and get results faster. There is good progress in testing”, the Chief Minister said.

All efforts to trace participants of Tablighi Jamaat at Nizamuddin and Malaysia

With the Tablighi Jamaat emerging as the largest known viral vector of the coronavirus with a large number of its participants being tested positive, the State government is concerned about the health of the participants from Kerala who have returned to the State after attending the Tablighi Jamaat. “All efforts will be taken to trace the participants of Tablighi Jamaat at Nizamuddin and Malaysia. They all need to be tested for coronavirus infection. The District Collectors have prepared the list of participants with the help of Police and their testing is being done on a priority basis”, the CM added.

Distribution of free ration starts in Kerala starts from April 01

The distribution of the free ration announced by the Kerala Government will start from April 01 in the State. Foodgrains will be distributed during the morning till noon to those under the Antyodaya scheme and priority cardholders. The non-priority cardholders will get the ration in the afternoon. Only five persons will be allowed at a time in a retail ration outlet as per the social distancing norms. Each dealer could introduce a token system to avoid crowding of card-holders. Volunteers from LSG bodies can help in home-delivery of foodgrains for the elderly and sick who are not able to reach the ration shops.

कासरकोड ज़िले के लिए विशेष एक्शन प्लान

तिरुवनंतपुरम, 31 मार्च: मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने मंगलवार को कासरकोड ज़िले के लिए विशेष ऐक्शन प्लान की घोषणा की। कासरकोड में सबसे ज़्यादा मामले होने की वजह से ही यहां के लिए विशेष ऐक्शन प्लान बनाया गया है।

पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने बताया, “कासरकोड में एक विशेष ऐक्शन प्लान लागू किया जाएगा। फ़िलहाल, कासरकोड ज़िले में कोविड-19 से प्रभाविल लोगों की संख्या सबसे ज़्यादा है, और यहीं सबसे ज़्यादा लोग अस्पताल में आइसोलेशन में रखे गए हैं। पंचायतों की मदद से डाटा इकट्ठा किया जाएगा, और सैंपल परीक्षण के लिए भेजे जाएंगे। पंचायत ही मरीज़ों से संपर्क में आए लोगों की पहचान भी करेगी। कासरकोड मेडिकल कॉलेज अस्पताल में एक कोविड केंद्र ने काम करना शुरू कर दिया है। ज़िले में स्थित सेंट्रल यूनिवर्सिटी को सैंपल टेस्ट करने की अनुमति ICMR से मिली है। वहां के अस्पतालों में मास्क या अन्य सुरक्षात्मक गियर की कोई कमी नहीं है। ”

केरल में आज कोविड-19 के सात नए मामले, राज्य में कुल 215 ऐक्टिव मामले

केरल में कोविड-19 से एक और व्यक्ति की मौत हो गई है। 68 साल के तिरुवनंतपुरम निवासी की सोमवार देर रात मेडिकल कॉलेज अस्पताल में मृत्यू हुई। इसके साथ ही केरल में कोविड-19 से मरने वालों की संख्या दो हो गई है।

अच्छी बात यह है कि बीमारी का प्रसार कुछ थमा है, और आज सिर्फ़ सात नए मामले सामने आए हैं। इनमें से 6 संपर्क से हुए हैं। इनमें दो-दो मामले तिरुवनंतपुरम और कासरकोड में हैं, जबकि एक-एक मामला कोल्लम, त्रिशूर और कन्नूर का है। राज्य में इस वक़्त कुल 215 लोगों का इलाज चल रहा है; 1,63,129 लोग निगरानी में हैं, जिनमें 1,62,471 लोग घर पर और बाकी 658 अस्पतालों में आइसोलेशन में रखे गए हैं। अस्पतालों में सबसे ज़्यादा 163 लोग कासरकोड जिले में, इसके बाद कन्नूर में 108 और मलप्पुरम जिलों में 102 लोग भर्ती हैं। अब तक 7,485 सैंपल परीक्षण के लिए भेजे गए हैं, इनमें 6,381 नेगेटिव पाए गए हैं। आज राज्य में कुल 150 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

मुख्यमंत्री ने बताया, “हम परीक्षण के लिए ज़्यादा नमूने भेजने और परिणाम तेजी से प्राप्त करने में सक्षम हैं। परीक्षण में अच्छी प्रगति आई है।”

निज़ामुद्दीन और मलेशिया में तब्लीगी जमात में हिस्सा लेने वालों की पहचान करने का पूरा प्रयास

तब्लीगी जमात के कोरोनावायरस के सबसे बड़े वायरल वेक्टर के रूप में उभरने के साथ ही इसमें भाग ले चुके लोगों को भारी मात्रा में कोविड-19 के लिए पॉज़िटिव पाया जा रहा है। केरल सरकार निज़ामुद्दीन और मलेशिया में तब्लीगी जमात में हिस्सा लेकर लौटे लोगों के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित है।

“उन सभी प्रतिभागियों का कोरोनावायरस के संक्रमण का टेस्ट करना ज़रूरी है। जिला कलेक्टरों ने पुलिस की मदद से प्रतिभागियों की सूची तैयार कर ली है और उनकी टेस्टिंग को प्राथमिकता दी जा रही है,” मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने बताया।

मुफ्त राशन का वितरण एक अप्रैल से

केरल सरकार द्वारा घोषित मुफ्त राशन का वितरण एक अप्रैल से शुरू होगा। अंत्योदय योजना और प्राथमिकता वाले कार्डधारकों को सुबह से दोपहर तक खाद्यान्न वितरित किया जाएगा। गैर-प्राथमिकता वाले कार्डधारकों को दोपहर बाद राशन मिलेगा। खुदरा क्षेत्र के राशन आउटलेट में सोशल डिस्टेंसिंग मानदंडों के अनुसार केवल पांच व्यक्तियों को अनुमति दी जाएगी। प्रत्येक डीलर कार्ड-धारकों की भीड़ से बचने के लिए एक टोकन प्रणाली शुरू कर सकता है। स्थानीय स्व-सहायता समूहों के स्वयंसेवक बुजुर्गों और बीमार लोगों के लिए खाद्यान्न की होम-डिलीवरी में मदद कर सकते हैं।